WELCOME TO OM ACADEMY


राजस्थान के किस जिले में एकलिंगजी का मन्दिर स्थित है ?
उदयपुर
नाथद्वारा
चित्तौड़गढ़
पुष्कर
A
Note : : इस मंदिर को निर्माण 8वीं शताब्दी में बप्पा रावल द्वारा करवाया गया । इस मंदिर का वर्तमान स्वरूप महाराणा रायमल ने दिया था । मेवाड़ के महाराण एकलिंग जी जो मेवाड का शासक व स्वयं को दीवान मानते है ।

‘ जाहरपीर ‘ के नाम से कौन से लोक देवता को जाना जाता है
हनुमान जी
गोगा जी
तेजाजी
भोमियाजी
b
Note : : गोगाजी ने महमूद गजनवी के साथ युद्ध किया था । तब महमूद गजनवी ने कहा था यह तो जाहरपीर है अर्थात् साक्षात देवता के समान प्रकट होता है ।

पाबूजी को अवतारमाना जाता है ।
लक्ष्मण का
लता का ।
तेजाजी का
भोपा जी का
A
Note : पाबूजी जाता तथा को ऊँटों का देवता माना है प्लेग रक्षक माना जाता है ।

राजस्थान का शंकरिया नृत्य किससे संबंधित हैं
कालबेलिया
भील
सहरिया
तेरहताली
A
Note : : कालबेलिया के प्रमुख नृत्य है – ‘ इंडोणी , शंकरिया , पणिहारी , बागड़िया । कालबेलिया को यूनेस्को की अमूर्त विश्व विरासत की सूची में भी शामिल किया गया है ।

हरियाली तीज मनायी जाती है
भादपद भादों
फागन पूर्णिमा
भाद्रपद शुक्ल एकादशी
सावण शुक्ल तृतीया
D
Note : जयपुर में हरियाली तीज ( छोटी तीज ) पर तोज माता की सवारी निकाली जाती है तो तीज साथ ही त्योहारों का आगमन माना जाता है ।

प्रसिद्ध स्मारक सुनहरी कोठी स्थित है ?
टोंक
भीलवाड़ा
अलवर
उदयपुर
A
Note : : सुनहरी कोठी का निर्माण नवाब मोहम्मद इब्राहिम अली खान ने करवाया था ।

होली का त्योहार मनाया जाता है ।
चैत्र
फाल्गुन
वैशाख
सावन
b
Note : होली का त्योहार फाल्गुन माह की पूर्णिमा को मनायाजाता है ।

चाँद बावडी किस स्थान पर स्थित है ?
औभानेरी ( दौसा )
राजगढ़
कुम्भलगढ़
नागौर
A

विश्नोई सम्प्रदाय का संस्थापक कौन था ?
गोगाजी
रावल जी
जाम्भोजी
जय सिंहजी
c
Note : : संत जाम्भोजी का जन्म नागौर के पीपासर गांव में हुआ । जाम्भोजी एक श्रेष्ठ पर्यावरण वैज्ञानिक थे । जाम्भोजी को विष्णु का अवतार माना जाता है । इन्होंने 29 नियमों का पालन करने वाली विश्नोई सम्प्रदाय की स्थापना की । जाम्भोजी ने 1485 ई . में संभराथल ( बीकानेर ) में विश्नोई सम्प्रदाय का प्रर्वतन किया ।

मंदिर स्थापत्य की भूमिज शैली किस स्थापत्य शैली की उपशैली है ?
चौहान शैली
मीना शैली
किशनगढ़ शैली
नागर शैली
D
Note : : नागर शैली में मंदिर ऊँचे चबूतरे पर आधार से शिखर तक चौपहला या वर्गाकार होता है

निम्नलिखित में से कौन सा भीलों का प्रसिद्ध लोक – नाट्य है ?
स्वांग
तमाशा
रम्मत
गवरी
D
Note : : गवरी नृत्य उदयपुर संभाग के भीलों द्वारा एक प्रकार को नृत्य नाटिका के रूप में प्रस्तुत किया जाता है । यह शिव व भस्मासुर को पौराणिक लोक कथा पर आधारित है । नृत्य नाटिका के रूप में प्रस्तुत किया जाता है । गवरी नृत्य दिन में किया जाने वाला एकमात्र नृत्य है ।

अजमेर स्थित ख्वाजा साहब की दरगाह में स्थित बडी देग किस मुगल सम्राट द्वारा भेंट की गई
शाहजहां
औरंगजेब
कुमायूं
अकबर
d
Note : : दरगाह में दो देग रखी है । इनमें बड़ी देग बादशाह अकबर द्वारा ( 1567 ई . ) और छोटी देग बादशाह जहाँगीर द्वारा ( 1613 ई . ) भेट की गई थी ।

जालौर में शादी के समय ढ़ोली , माली, सरगड़ा और भील के लोग “थाकना” शैली में कौनसा नृत्य करते हैं
(a) बमनृत्य
(b) घूमर
(c) ढोलनृत्य
(d) इनमें से कोई नहीं
c

श्रावक प्रतिक्रमण भूर्णि नाम चित्रित ग्रंथ राजस्थान की किस शैली में है
मेवाड़
नाथद्वारा
किशनगढ़ शैली
अलवर शैली
A
Note : : राजस्थानी चित्रकला की मूल शैली के रूप में मेवाड़ शैली का माना जाता है । मेवाड शैली के अन्तर्गत पोथी ग्रंथों का अधिक चित्रण हुआ ।

Request a call back.

Would you like to speak to one of our financial advisers? Just submit your contact details and we’ll be in touch shortly. You can also email us if you prefer that type of communication.